यूरोपीय देश स्लोवेनिया ने खुद को कोरोना मुक्त देश घोषित किया

स्लोवेनिया इस ग्लोबल महामारी से मुक्त होने की घोषणा करने वाला पहला यूरोपीय देश बन गया है। मालूम हो कि चीन से पसरी इस बीमारी ने बाद में सबसे अधिक अमेरिका और यूरोपीय देश में ही कहर बरपाया है।

काेरोना संकट के बीच आ रही तमाम निगेटिव खबरों के बीच एक सुकून देने वाली खबर अायी है। स्लोवेनिया
इस ग्लोबल महामारी से मुक्त होने की घोषणा करने वाला पहला यूरोपीय देश बन गया है। मालूम हो कि चीन से पसरी इस बीमारी ने बाद में सबसे अधिक अमेरिका और यूरोपीय देश में ही कहर बरपाया है।
यूरोपीय यूनियन के अंतर्गत आने वाले देश स्लोवेनिया की सरकार ने शुक्रवार को एलान किया कि अब उनके देश में काेरोना का प्रसार कंट्रोल में आ चुका है। सरकार की ओर से यह भी कहा गया है कि अब उनके देश के लोग ऑस्ट्रिया, इटली और हंगरी से स्लोवेनिया जाने के लिए स्वतंत्र हैं। लेकिन जो यूरोपीय संघ के निवासी नहीं हैं उन्हें 14 दिन तक आइसोलशन में रहना होग।  स्लोवेनिया में कोविड-19 का पहला मामला चार मार्च को सामने आया था। संक्रमित व्यक्ति इटली से लौटा था। इसे 12 मार्च को  महामारी घोषित किया गया था। स्लोवेनिया में 13 मई तक 1467 कुल मामले आए थे जिनमें 103 लोगों की मौत हुई थी। वहीं पाकिस्तान ने भी महामारी के बीच अब घरेलु विमान की सेवा शुरू करने के संकत दिये हैं।

भारत ने चीन का आंकड़ा पार किया
वहीं भारत में भी कोरोना के कुल मरीजों की तादाद 83 हजार पार कर गयी है। यह चीन के कुल आंकड़ों से अधिक है। हालांकि विशेषज्ञ चीन के आंकड़ों पर सवाल उठाते रहे हैं। भारत में कोरोना के बढ़ते आंकड़ों के ट्रेंड को देखें तो 1 से 20 हजार पहुंचने में 82 दिन लगे थे। जबकि 12 दिन में संक्रमण 20 से 40 हजार पहुंच गया. लेकिन इसके बाद 6 दिनों में ये 40 से 60 हजार पहुंच गया और उसके बाद तो सिर्फ 60 हजार से बढ़कर 80 हजार को पार करने में सिर्फ 5 दिनों का वक्त लगा।

Facebook Comments