कोरोना के साइड एफेक्ट, “मेड इन इंडिया” हल्दी की मांग बढ़ी, इम्युनिटी बूस्ट करती है हल्दी दूध

अभी कोराना से बचने के लिए इम्यून बढ़ाने के लिए हर घर में हल्दी युक्त दूध पीया जा रहा है। इसी कारण पिछले कुछ महीनों में हल्दी से जुड‌े़ कई प्रोडक्ट भी लांच हुए। पहले अमूल ने हल्दी दूध को बाजार में उतारा। बाद में मदर डेयरी ने भी इस प्रोडक्ट को लांच किया। अब हल्दी युक्त आईसक्रीम और दूसरे उत्पाद भी बाजार में आने लगे हैं।

कोरोना काल में लोगों की न सिर्फ जीवन शैली बदली है बल्कि खाने-पीने की शैली भी बदल गयी है। कोरोना से बचाव के लिए इम्यून सिस्टम बढ़ाने वाले चीजों की मांग बहुत बढ़ गयी है। इसमें ही शामिल है हल्दी युक्त दूध। अभी कोराना से बचने के लिए इम्यून बढ़ाने के लिए हर घर में हल्दी युक्त दूध पीया जा रहा है। इसी कारण पिछले कुछ महीनों में हल्दी से जुड‌े़ कई प्रोडक्ट भी लांच हुए। पहले अमूल ने हल्दी दूध को बाजार में उतारा। बाद में मदर डेयरी ने भी इस प्रोडक्ट को लांच किया। अब हल्दी युक्त आईसक्रीम और दूसरे उत्पाद भी बाजार में आने लगे हैं।

विदेशों में बढ़ी मेड इन इंडिया हल्दी की मांग
वहीं जहां पूरी दुनिया के लोग कोरोना से बचाव का उपाय खोज रहे हैं,ऐसे मेंं भारत की बनी हल्दी की मांग ग्लोबत स्तर पर बढ़ गयी है। पूरे विश्व में भारत हल्दी का सबसे बड़ा उत्पादक है। पूरे विश्व में कोरोना वायरस महमारी की वजह से इम्युनिटी बूस्ट करने की सलाह दी जा रही है। भारत में हल्दी निर्यात के लिए मीडिल ईस्ट, अमेरिका, यूरोप और दक्षिणपूर्व एशियाई देशों से हल्दी की मांग बढ़ी है।

हल्दी युक्त दूध के फायदे

जानकारों के अनुसार हल्दी दूध में मौजूद करक्यूमिन इम्यूनोमॉड्यूलेटरी एजेंट काम करता है। वहीं इसमें एंटीबायोटिक के भी गुण होते हैं जो दूध के साथ मिलाकर पीने से बहुत फायदेमंद होते हैं।

-हल्दी दूध में Antiseptic ,Anti-inflammatory,Anti-macrobial,Anti-Allergic भी होते हैं जो कई तरह के घाव और दर्द को कंट्रोल करते हैं
-हल्दी डायबिटिक को भी कंट्रोल करता है और इसके सेवन से सूगर लेवल नियंत्रित रह सकता है
-हल्दी सर्दी-खांसी-बुखार को भी ठीक करने में मदद करता है
-हल्दी का दूध आंतों को स्वस्थ रखने और पाचन तंत्र को बेहतर करने में मदद कर सकता है
-करक्यूमिन अनिद्रा को ठीक करने में भी मदद करता है। ऐसे में हल्दी में इसका होना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है
-हल्दी युक्त दूध ऑस्टियोपोरोसिस (हड्डी संबंधी रोग) से संबंधित बीमारी को भी कम करने में मदद करता है

सावधानी भी जरूरी
किसी भी चीज का सेवन बिना पूरी जानकारी या जरूरत के लेने से नुकसानदायक भी हो सकता है। ऐसे में जरूरी है कि जब हल्दी युक्त दूध आप ले रहे हैं तो इस बात पर स्पष्टता रखें कि आप किन उद्देश्य को पूरा करने के लिए इसे ले रहे हैं। हल्दी युक्त के कुछ निगेटिव साइड एफेक्ट भी हो सकते हैं जिन्हें जानना जरूरी है-

– कई लोगों को हल्दी युक्त दूध से एलर्जी भी हो सकती है
-अधिक मात्रा में इसे लेने से गैस,पेट खराब या पेट की दूसरी बीमारी भी हो सकती है। गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल की समस्या भी सामने आ सकती है
-अगर आपको गॉल ब्लॉडर से जुड़ी कोई समस्या है तो हल्दी वाला दूध आपकी इस समस्या को और बढ़ा देगा. स्टोन है तो आपको हल्दी वाला दूध नहीं पीना चाहिए.
-अगर आप पहले से कोई दवा ले रहे हैं तो हल्दी दूध पीने से पहले डॉक्टर से जरूर राय लें

Facebook Comments